सरस्‍वती को ऋग्‍वेद में सर्वाधिक पवित्र नदी माना जाता था । इसका वर्णन दसवें मंडल में नदी सूक्‍त में है । गंगा का वर्णन केवल एक बार है । विपासा या व्‍यास का वर्णन दो बार है । लेकिन सबसे महत्‍वपूर्ण नदी वैदिक काल में सिंधु को माना जाता था । इसे हिरण्‍यनी , परावत , सुवास , ऊर्णावती भी कहा गया है ।