वर्ष 2001 , वर्ष 1999 तक केंद्रीय बजट को फरवरी माह के अंतिम कार्य दिवस पर साय 5:00 बजे पेश किया जाता था। यह अभ्यास औपनिवेशिक काल में ब्रिटिश संसद द्वारा भारतीय बजट को पारित करने के उपरांत भारतीय संसद में पेश करने की परंपरा स्वरूप अपनाया गया था। वर्ष 2001 में अटल बिहारी वाजपेई सरकार के दौरान तत्कालीन वित्त मंत्री श्री यशवंत सिन्हा ने संसदीय बजट को पेश करने के समय में महत्वपूर्ण बदलाव करते हुए, इसे प्रातः 11:00AM पेश करने की नई परंपरा का शुभारंभ किया गया था।